SEO Kya Hai Full Details For Beginners

SEO Kya Hai Full Details For Beginners

दोस्तो यदि आप एक ब्लॉगर है या आप अपनी एक वेबसाइट बनाने की सोच रहे है तो आपने कही से सुना होगा कि SEO Kya Hai ( SEO in Hindi ) क्योंकि हर वेबसाइट के लिए Seo उतना ही जरूरी है जितना एक व्यक्ति के जीने के लिए रोटी जरूरी है ।
मान लीजिए कि आपने अपनी एक वेबसाइट या एक ब्लॉग बना लिया और आप चाहते है कि आपकी वेबसाइट पर गूगल से आर्गेनिक ट्रैफिक आये तो उसके लिए आपको आपकी वेबसाइट और ब्लॉग के लिए SEO करना पड़ेगा
बिना SEO किये यदि आप अपनी वेबसाइट पर पोस्ट्स करते रहेंगे तो यकीन मानिए आप एक न एक दिन ब्लॉगिंग से थक जाएंगे और अपना ब्लॉग और वेबसाइट बन्द कर देंगे।

Seo Kya Hai

SEO Kya Hai In Hindi

Seo यानि Search Engine Optimization
आप जब भी कभी गूगल पर कुछ भी सर्च करते है तो आपके सामने जो आपने सर्च किया था उससे संबंधित कुछ परिणाम दिखाई देते है जैसे मान लीजिए कि आपने गूगल पर सर्च किया कि What Is SEO In Hindi
तो आपके सामने Seo Kya Hai से संबंधित जो भी आर्टिकल्स गूगल पर है वो आपके सामने दिखाई देंगे लेकिन इन सब आर्टिकल्स में से आपको गूगल सर्च में वो ही आर्टिकल टॉप पर दिखाई देगा जिस पर Seo Optimization बढ़िया तरीके से किया गया है
इसका सीधा सा मतलब है कि गूगल में आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को रैंक करवाने के लिए SEO बेहद जरूरी फैक्टर है ।
SEO( Search Engine Optimization ) हमारे blog को गूगल में टॉप रैंक पर लाने के लिए सहायता करता है. ये एक तकनीक है जो आपके website को search engine के search result पर सबसे टॉप पर लाता है जिससे आपकी वेबसाइट पर visitors की संख्या को बढ़ती है.

Full Form Of SEO

SEO फुल फॉर्म है Search Engine Optimization
Seo फुल फॉर्म का हिंदी रूपांतरण सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन होता है।
सीधे शब्दो में कहा जाए तो SEO की मदद से आप अपनी वेबसाइट को गूगल की सर्च रैंकिंग में सबसे ऊपर ला पाते है।

वेबसाइट के लिए क्यों जरूरी है SEO

अभी तक आप समझ चुके होंगें की Seo Kya Hai । अब हम आपको बताएंगे कि वेबसाइट के लिए Seo क्यों जरूरी है

SEO की मदद से हम अपनी वेबसाइट पर सर्च इंजन से ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ा सकते है क्योंकि आपकी वेबसाइट जब तक सर्च इंजन पर रैंक नही करेगी तब तक आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक नही आ पायेगा ।

इसलिए वेबसाइट पर रियल ट्रैफिक लाने के लिए आपकी वेबसाइट या ब्लॉग Fully Seo Optimized होनी चाहिए ।
मान लीजिए कि आप अपने एक ब्लॉग या वेबसाइट पर एक पोस्ट लिख रहे है Seo Kya Hai और Seo In Hindi.

इस पोस्ट में आपने Quality Content पब्लिश किया है लेकिन फिर भी आपकी वेबसाइट Top 10 रैंक में नही कर रही है तो इसका मतलब है कि आपने अपनी पोस्ट का Seo सही से नही किया है।

जब तक आप अपनी वेबसाइट पोस्ट का Seo अच्छे से नही करेंगे तब तक Visiter आपकी वेबसाइट पर नही पहुंच पायेगा जबकि आपने कंटेंट भी बढ़िया लिखा है लेकिन फिर भी Visitor के सामने गूगल आपकी पोस्ट को Recommend भी नही करेगा । search engine हमारे site को ढूंढ नहीं पायेगा ना ही हमारे website के content को अपने database पर store कर पायेगा, जिससे आपके website में traffic होना बहुत ही मुश्किल हो जायेगा.

Seo को समझना इतना मुश्किल काम नही है। Seo की गणित अगर आपने एक बार सिख लिया तो आप आपकी वेबसाइट को गूगल के टॉप रैंक में शामिल हो पाएंगे ।

Search Engine Kya Hota Hai

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि आपकी पोस्ट सर्च इंजन में रैंक करना जरूरी है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि Search Engine Kya Hota Hai.
सर्च इंजन एक ऐसा प्रोग्राम है जो इंटरनेट पर मौजूद सूचनाओं को कीवर्ड्स की मदद से ढूंढने में यूजर की सहायता करता है।

Search Engine Kya Hota Hai

इंटरनेट में जो भी आपके द्वारा search किया जाता है उसको ढूंड के search engine Exact Result दिखाने का काम सर्च इंजन करता है. कुछ search engine के नाम है “Google, Yahoo, Bing “. आपको एक example से अच्छे से समझाता हूँ. आपके मन में एक सवाल आया तो आप तुरंत Google जो एक search engine है उसमे search करने लगते हो. आपका सवाल है “Seo Kya hai In Hindi”

तो सर्च इंजन के अल्गोरिथम अपने डेटा base में मौजूद जानकारी को fastly crawl, index और Rank देता है जिसे SERP (Search engine Result Page) कहते है। किसी भी Page को search Result में Top पर लाने के लिए Seo की बहुत बड़ी भूमिका होती है।

SERP Kya Hai In Hindi

जब भी आप सर्च इंजन पर कुछ भी सर्च करते है तो जो आपके सामने रिजल्ट्स शो होते है उन्हें SERP( Search engine Result Page) कहते है ।
आजकल सबसे ज्यादा गूगल सर्च इंजन का प्रयोग किया जाता है । गूगल किसी भी पोस्ट को रैंक करने के लिए अपने अलग अलग पैरामीटर पर उस पोस्ट को चेक करता है तथा उसके बाद गूगल एल्गोरिदथम के मुताबिक उन पोस्ट्स को रैंक देता हैं।

Search Engine Kaam Kaise Karta Hai

इसे सीधे शब्दों में समझा जाये तो ऐसे समझ सकते है कि जब भी आप search इंजन पर कुछ भी सर्च करते है जो Search Engine उस रिलेटेड सर्च को वर्ल्ड वाइड वेब पर सर्च करता है तथा जिस भी वेबसाइट के पोस्ट टाइटल या कंटेंट डिस्क्रिप्शन में वो कीवर्ड मौजूद है जो आपने सर्च किया था उसे ढूंढ कर आपके सामने Search Engines के पहले पेज पर दिखाया जाता है ताकि जिस भी यूजर ने जो संबंधित कीवर्ड खोजा था उससे संबंधित जानकारी उस यूजर को मिल सके।

मान लीजिए कि आपने एक कीवर्ड सर्च किया की “Seo Kya Hai” तो Search इंजन उन सब पेज ओर पोस्ट्स को World Wide Web (जिसे शार्ट में आप www कहते हैं) पर ढूंढता है तथा जिन जिन पोस्ट्स में SeoKya Hai से संबंधित टाइटल ओर कंटेंट मौजूद है उन्हें आपके सामने दिखाया जाता है
Search Engine को और गहराई में समझा जाये तो हमें इसके बेसिक को समझना पड़ेगा।

सर्च इंजन तीन steps में काम करता है

Crawling
Indexing
And Ranking
आज इस पोस्ट में हम आपको केवल Seo Kya Hai In Hindi के बारे में Full Details से समझाने वाले हैं

Types Of Seo In Hindi

Seo के 2 Types होते है Off Page Seo
And On Page Seo
इन दोनों का वेबसाइट रैंकिंग में अलग अलग रोल है
इन दोनों Seo Types को हम Details से समझने का प्रयास करेंगे।

On Page Seo Kya Hai

वेबसाइट par Organic Traffic बढ़ाने के लिए On Page Seo Important है।

सीधे और आसान शब्दो मे On Page Seo को समझा जाये तो ऐसे समझ की आपके द्वारा अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के अनुसार सेटअप करने के लिए जो काम किया जाता है वो OnPageSeo में गिना जाता है।

क्योंकि इससे आपकी वेबसाइट पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ता है On Page Seo में आता है कि सबसे पहले आप अपनी वेबसाइट पर एक अच्छी सी थीम यूज़ करे जिससे यूजर को आपकी वेबसाइट यूजर फ्रैंडली लगे

On Page Seo In Hindi

1.Post Title

इस मे post Title का सबसे इंपॉर्टेंट रोल होता है. पोस्ट टाइटल मे यदि आप अपने फोकस कीवर्ड का सही इस्तेमाल कर के अपने पोस्ट को सर्च इंजन के लए पर्फेक्ट्ली ऑप्टिमाइज़ करते हैं. इसके अंतर्गत पोस्ट टाइटल बहुत ही इंपॉर्टेंट फैक्टर है.

क्योंकि यूजर जिस कीवर्ड को सर्च करने आता है और यदि आपकी पोस्ट टाइटल में उस कीवर्ड से संबंधित कुछ लिखा हुआ होगा तो आपके पोस्ट पर क्लिक आने की प्रायकिता बढ़ जाएगी।

यदि आप अपनी पोस्ट टाइटल को परफेक्ट ऑप्टिमाइजेशन करेंगे तो google रैंक में आपको Boost Up मिलेगा मैं आपको नीचे कुछ टिप्स बताऊंगा जिन्हें फॉलो करके आप अपनी वेबसाइट पोस्ट टाइटल को Seo फ्रैंडली बना सकते है

Use Effective Words: पोस्ट टाइटल को और भी  SEO friendly बनाने के लिए इन वर्ड्स का इस्तेमाल करे. जैसे Effective, Most, Important, Best, Top, Strategies, Surprising, Essential, Ultimate guide, Beginners guide, Complete guide इन वर्ड्स के इस्तेमाल से टाइटल और अट्रैक्टिव बना सकते हैं.

Use Of Numerics:  टाइटल मे नंबर्स add करे इससे लोगों को attract करना आसान होता है. वो जल्दी ऐसे पोस्ट को read करते हैं.

2).Post Permalink

पोस्ट का Permalink आपकी रैंकिंग में एक अहम रोल निभाता है Because मान लीजिए आप पोस्ट लिख रहे है Seo Tips In Hindi और आपने आपकी पोस्ट के Permalink में पोस्ट का कीवर्ड नही देकर कुछ अलग ही दे रखा है तो यह आपकी गूगल रैंकिंग को प्रभावित कर सकता है।
आपको हमेशा आपकी पोस्ट के Permalink में जो आपकी पोस्ट का फोकस कीवर्ड है वो ही यूज़ करें ताकि आपकी पोस्ट सर्च इंजन में जल्दी रैंक करे।
इसके अलावा Post Permalink से संबंधित कुछ टिप्स आपको बता रहा हु जिन्हें आप जरूर फॉलो करे

A) Short Permalink URL

Permalink को हमे छोटा रखना चाहिए. और इसके साथ साथ ही इसमें अपना फोकस कीवर्ड या main कीवर्ड जरूर डालना चाहिए.

B) Delete Unnecessary Permalink

Unnecessary URL को delete कर के manually सर्च इंजन friendly URL को enter करे. अपने Focus Keyword को जरूर आप अपने post के पर्मालिंक में ऐड करे।

C). Never Use Stop Words

“a”, “the”, “on”, “and” इस तरह के words को Stop word बोला जाता है. Permalink में इन वर्ड्स को कभी भी  इस्तेमाल न करे तो ये SEO के लिए बेहतर है.

यह भी पढ़े :-EWS Certificate Kya Hai ?EWS Form Download In Hindi

3). Meta Description For Post

जब भी आपने गूगल में कोई कीवर्ड सर्च किया होगा तो आपको टॉप 10 सर्च वेबसाइट के Url में जो कीवर्ड आपने सर्च किया होगा वो दिखाई देता है उसे ही Meta Description कहते हैं। वेबसाइट रैंकिंग के लिहाज से देखा जाए तो पोस्ट टाइटल ओर Permalink के बाद प्रभावी फैक्टर है तो वो है Meta Description For Post .

Meta Description अच्छे से इस्तेमाल करना ज़रूरी है Because इससे भी हम अपने पेज को आसानी से Rank करा सकते हैं. हमे Seo Optimized Meta Description लिखना चाहिए जो हमारे रीडर्स को convince कर ले की जो इन्फर्मेशन वो सर्च कर रहे हैं इस पोस्ट मे वो उपलब्ध है.

Internal Link
ये अपने Post को rank करने के लिए एक बेहतरीन तरीका है. इससे आप अपने Related Pages को एक दुसरे के साथ Interlinking कर सकते हैं. इससे आपके सभी Interlinked pages आसानी से rank हो सकते हैं
Interlink से आपकी वेबसाइट की बाउंस रेट कम हो जाती है।

4). Keywords Density

कंटेंट के पहले Pergraph मे ज़्यादा density मे कीवर्ड्स इस्तेमाल करने चाहिए. कंटेंट के शुरूआती 100-150 वर्ड्स के अंदर मे कीवर्ड्स को अच्छी density मे ज़रूर प्रदान करे.

कीवर्ड रिसर्च इसीलिए किया जाता है की हमे सर्च इंजन से अच्छी ऑर्गेनिक ट्रैफिक मिल सके. इसके साथ ही कीवर्ड्स का selection CPC को ध्यान मे रख कर ही किया जाता है.

एक पोस्ट में आप अधिकतम 2.5% कीवर्ड ही यूज़ करें क्योंकि यदि आपने एक पोस्ट में ज्यादा कीवर्ड यूज़ करेंगे तो गूगल आपकी वेबसाइट को स्पैम मानकर panelize कर देगा । Because ज्यादा कीवर्ड यूज़ करने को गूगल कीवर्ड स्टफ्फिंग मानता है।

6) Image Optimization With Alt Tags

किसी भी पोस्ट में हम इमेज अपने विज़िटर को आकर्षित करने के लगाते है क्योंकि इमेज देखकर विजिटर समझ जाता है कि इस पोस्ट में क्या है

यदि आपकी पोस्ट में इमेज attractive लगी होगी तो आपकी पोस्ट पर क्लिक्स आने की प्रायिकता बढ़ जाएगी ।

ध्यान रखने वाली बात ये है की हम Image को डिज़ाइन करते वक़्त कुछ फैक्टर्स को भी फॉलो करना ज़रूरी होता है. इन factors के इस्तेमाल से हम हमारा इमेज 100% एसईओ ऑप्टिमाइज़्ड और और यूज़र फ्रेंड्ली बना सकते हैं. एसईओ फ्रेंड्ली इमेज हमारे On-page को बहुत स्ट्रॉंग बनाती है.

7). Keyword Research

Keyword Research करना यह  On page seo का important part है. अगर  आप अपने website पर High Qality post लिखते हैं, लेकिन कीवर्ड रिसर्च नहीं करते हैं, तो आपके आर्टिकल Serch Engin में रैंक नहीं होंगे.बहुत सारे free or paid tools हैं जो आपके आर्टिकल से संबंधित Keyword Research में आपकी मदद कर सकते है.

  • Ahrefs
  • Semrush
  • Google keyword planner
  • Ubersuggest

8) On Page Seo के बारे में महत्वपूर्ण बातें

  1. Title में keyword
  2. Permalink में keyword
  3. पहले paragraph में keyword
  4. Image के alt tag में keyword
  5. Throught Post में LSI keywords
  6. Headings में keywords
  7. 2.5% overall keyword density
  8. Website को mobile friendly बनाएं.
  9. Broken links को fix करें.
  10. Social share button का उपयोग करें.

9).Content

Content is King! अगर आपका Content बढ़िया है, या आपने High Qality Content लिखा है, तब आप आसानी से Serch Engine में सबसे Top Rank कर सकते हैं. इसलिए Content को King कहते हैं.

पोस्ट लिखते समय पोस्ट की लंबाई ज्यादा से ज्यादा हो इस पर ध्यान देना आवश्यक है. But पोस्ट की लंबाई ज्यादा होने के साथ पोस्ट में usefull और informativ जानकारी होना आवश्यक है. ऐसा न हो की आपने पोस्ट तो लिख दी है लेकिन Focus Keyword से भटक कर एक अलग ही जानकारी देने लग गए । अगर ऐसा हुआ तो आपकी वेबसाइट पर Bounce Rate बढ़ जाएगा तो आपकी वेबसाइट की रैंकिंग नीचे भी जा सकती है।

इससे आप अपने ब्लॉग पोस्ट पर यूजर्स को ज्यादा से ज्यादा समय तक engeg रख सके. यूजर्स ज्यादा देर तक आपके वेबसाइट पर बने रहे, तो आपके वेबसाइट का Bouns Rate भी कम रहेगा. इस वजह से आपके वेबसाइट का DA और PA improve होने में मदद होगी.

10). Featured Image

अपने रीडर्स को यूज़र फ्रेंड्ली Experience देने के लए अपने पोस्ट मे Featured Image बनाकर डालें. Thumbnail के रूप मे जिस इमेज को हम इस्तेमाल करते हैं उसे ही फीचर्ड इमेज कहते हैं.

Featured Image भी यूजर को Attractive करने में अहम रोल अदा करते है।

11). Page Speed

Google किसी Blog Post को अपने सर्च रिज़ल्ट मे रैंक देने से पहले हर तरह से चेक करता है. पेज की स्पीड भी बहुत इंपॉर्टेंट फैक्टर है एसईओ फ्रेंड्ली ब्लॉग के लिए . साथ ही पोस्ट ऑप्टिमाइजेशन के अंडर ये बहुत इंपॉर्टेंट फैक्टर है.

पेज की लोडिंग स्पीड अच्छी होती है तो google bots पोस्ट को जल्दी इंडेक्स करते हैं. अच्छी लोडिंग स्पीड बेहतर यूज़र एक्सपीरियंस के लिए इंपॉर्टेंट होता है. Slow loading होने वाले ब्लॉग पोस्ट को गूगल सर्च रिज़ल्ट्स मे अच्छी रैंक नही देता.

12). Mobile Friendly Website

गूगल किसी भी वेबसाइट को एनालिसिस करने के लिए अलग अलग पैरामीटर का यूज़ करते है गूगल अल्गोरिथम ही डिसाइड करते है किस पोस्ट को टॉप पर रखना है और किस पोस्ट को नीचे रखना है।

इसी कड़ी में Onpage Seo Me आपकी वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली होनी जरूरी है Because आपकी वेबसाइट पर आने वाले ट्रैफिक में से 80% ट्रैफिक मोबाइल से ही आता है इसलिए आपकी वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली होनी जरूरी है।

Off Page Seo In Hindi

Off Page Seo आपके ब्लॉग के लिए बेहद जरूरी है । जब भी किसी सक्सेसफुल ब्लॉगर से पूछा जाए कि Blogging में टॉप रैंकिंग का राज़ क्या है तो वो सीधा कहता है कि “Content Is King” यह बात भी सत्य है But कभी आपने सोचा है कि जब दो वेबसाइट्स पर 1 टॉपिक पर same कंटेंट मौजूद हो तब गूगल किस पोस्ट को रैंक करेगा ।

इस समय गूगल दोनो वेबसाइट को एनालिसिस करने के लिए Off Page Seo In Hindi को महत्व देता है जिसमे कही सारे फेक्टर काम करते है
अब हम आपको Off Page Seo Techniques के बारे में बताएंगे।

वो सारी गतिविधियां जिन्हें हम अपने ब्लॉग पर बाहरी रूप से करते हैं, ऑफ पेज SEO कहलाती हैं। इसे आसान शब्दो मे समझा जाये तो ऐसे समझ सकते है कि अपनी वेबसाइट को promote करने के लिए जिन तरीकों का इस्तमाल करते है उसे off-page seo कहतें है।

Off Page Seo In Hindi क्यों जरूरी है

  1. इसकी मदद से हम वेबसाइट पर ट्रैफिक increase करने में मदद मिलती है|
  2. वेबसाइट की ब्रांडिंग करने में सहायक होता है
  3. Domain authority बढानें के लिए off page seo जरूरी है

Off Page Seo Kyu Jaruri Hai

ब्लॉगिंग में जो सबसे जरूरी चीज है वो है कंटेंट
जब तक आप Unique और दमदार कंटेंट नही लिखेंगे तब तक बाकी चीज़ो को कोई मतलब नही है।
Because Blogging में Content ही सब कुछ है जब आपका कंटेंट Unique होगा तब आपके लिए Onpage और off page का काम कम हो जाएगा।

यदि आप एक ऐसे कीवर्ड्स पर आर्टिकल लिख रहे है जिस पर कॉम्पिटिशन कम है तथा उस पर गूगल में आर्टिकल भी कम है तो आपके लिए Off Page Seo का काम कम हो जाएगा ।

But यदि आप एक ऐसे कीवर्ड्स पर काम कर रहे है जिस पर कॉम्पिटिशन भी ज्यादा है और गूगल पर आर्टिकल भी बहुत सारे है तो फिर यहाँ Search Engine के लिए Off page Seo एक अहम फैक्टर बन जाता है
Search Engine अल्गोरिथम सोशल शेयरिंग ओर backling को search रैंकिंग में महत्व देते है ।

Off Page Seo Factors

अगर आपके कीवर्ड्स पर कॉम्पिटिशन ज्यादा है तो आपके लिए जितना जरूरी on Page Seo होता है उतना ही जरूरी Off Page Seo हो जाता है ।

Search Engine अलग अलग पैरामीटर पर आपके आर्टिकल को चेक करता है तथा उसके मुताबिक रैंक देता है ।
हम आपको बताएंगे कि आप Off Page Seoके लिए महत्वपूर्ण फैक्टर क्या है ।

बैकलिंक (Backlinks)- 

बैकलिंक यानि हमारी साइट का link किसी दूसरी साइट में होना। backlinks की ऑफ पेज Seo में अहमियत का अंदाजा आप इससे बात से लगा सकते हैं कि कई सारे लोगों के लिए तो off page seo का मतलब backlinks ही होते हैं।

लेकिन दोस्तो कही सारे बैकलिंक तो हमारी वेबसाइट के लिए नुकसानदायक भी होते है
आप यदि अपनी वेबसाइट के लिए Backlink बनाना चाहते है तो हम आपको केवल Guest Post से बैकलिंक बनाना ही Suggest करेंगे।

2). Search Engine Submission

पोस्ट को publish करने के बाद आपका सबसे पहला काम यही होता है कि उसे search engine में submitted करे, ऐसा करने से आपकी पोस्ट जल्दी index हो जाती है,

वैसे तो Search engine इस तरीके से program होते है कि वह आपकी पोस्ट को अपने आप खोज लेगे पर इस process में काफी समय लग सकता है, सर्च इंजन जैसे की Google Search Console, Yahoo, Bing Webmasters Tool अदि |

3). Social Sharing

जिस कीवर्ड पर कॉम्पिटिशन ज्यादा होता है उस समय आपके लिए सोशल शेयरिंग काफी लाभदायक रहता है ।

इससे social network पर share कि गयी Post boots और pageviews increase होता है | धीरे धीरे visitors direct blog पर visit करने लग जाते है | share कि गयी Post article पर क्लिक करके blog पर Post को पढना पसंद करते है | लोगो के सामने website का name भी हो जाता है |

Type Of Seo Techniques

दोस्तो आपने कही बार Black Hat ओर White Hat Seo के बारे में सुना होगा
Black Hat Seo जैसा कि नाम से स्पष्ट हो रहा है कि इसमें आप अपनी वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए उन टेक्नीक का प्रयोग करते है जिसे गूगल ओर बाकी के सर्च इंजन गलत मानते है ।

black hat seo or white hat seo

आप एक दिन में गूगल की Top रैंकिंग में नही आ पाएंगे Because इन सब प्रोसेस में टाइम लगता है धीरे धीरे सर्च इंजन bots आपकी वेबसाइट के वेब पेजेज को क्रॉल करेंगे तथा उन्हें लगेगा कि आपकी वेबसाइट के कंटेंट में दम है तो आप धीरे धीरे रैंक करने लग जायेंगे।

Keyword Stuffing

Black Hat Seo में माना जाता है कि आप Keyword Stuffing करके सर्च रैंकिंग में टॉप पोजीशन में आते है
Keyword Stuffing का मतलब है एक पोस्ट के तय सीमा से ज्यादा कीवर्ड्स यूज़ करना
जैसा कि ऊपर हमने आपको बताया कि आप अपनी पोस्ट में 2.5% से 3% तक कीवर्ड्स यूज़ कर सकते है लेकिन इससे ज्यादा यदि आप keyword यूज़ करेंगे तो वो Keyword Stuffing में गिना जाएगा।

White Hat Seo

वेबसाइट या ब्लॉग की रैंकिंग improve करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक को white hat SEO techniques कहा जाता है। और जो सभी SEO प्रोफेशनल द्वारा recommend है।

तो दोस्तो इस पोस्ट में हमने आपको Seo Kya Hai और वह किसी भी website के लिए कितना जरूरी होता है इसके बारे में बिल्कुल आसान शब्दो मे बताया है और इससे आपको अपनी वेबसाइट पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाने में जरूर मदद मिली होगी तो अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आता है तो उसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और फिर आपको कोई समस्या आती है तो हमे Comment में जरूर बतायें।

3 thoughts on “SEO Kya Hai Full Details For Beginners

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *