Republic Day 2021 : रिपब्लिक डे पर इन शानदार शायरी से करें अपनों को विश

गणतंत्र दिवस के मौके पर लोग एक दूसरे को राष्ट्रभक्ति से जुड़े संदेश भेजते हैं कई लोगों को शायरी खासतौर पर पसंद आती है जो गणतंत्र दिवस के मौके पर काफी संदेश के रूप में भेजी जाती है। भारतवर्ष के सभी प्रदेशों में गणतंत्र दिवस की तैयारियां हो चुकी हैं और लोग अभी से एक दूसरे को इसकी शुभकामनाएं देने लगे हैं। कोरोना महामारी की वैक्सीन मिलने के बाद यह एक ऐसा पहला मौका है जब लोग सीमित संख्या में गणतंत्र के उत्सव को मनाने के लिए एकत्र हाेंगे। दिल्ली राजपथ पर 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस की परेड (Republic Day Parade) का आयोजन किया जाता है। हमारे देश का संविधान 26 जनवरी को ही लागू हुआ था और यही वजह है कि हर वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,

कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,

हम लहराएंगे हर जगह ये तिरंगा

 जो अगणित लघु दीप हमारे…
जो अगणित लघु दीप हमारे
तूफानों में एक किनारे,
जल-जलाकर बुझ गए किसी दिन
माँगा नहीं स्नेह मुँह खोल
कलम, आज उनकी जय बोल….

देशभक्तों के बलिदान से मिली आजादी हमको
नमन उन वीर शहीदों को जिन्होंने दी कुर्बानी अपनी
आज कोई पूछे तो गर्व से कहेंगे तिरंगा है हमारा
आजादी से पहले नहीं था ये लम्हा हमारा

तैरना है तो समंदर में तैरो
नदी नालों में क्या रखा है,
प्यार करना है तो वतन से करो
इस बेवफ़ा लोगों में क्या रखा है |
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

लो फिर से खुद को जागते है,
अनुसासन का डंडा फिर घुमाते है,
सुनहरा रंग है गणतंत्र का सहिदो के लहू से,
ऐसे सहिदो को हम सब सर झुकाते है ||
आपको गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें. 2021 

चलो फिर से खुद को जगाते हैं,

अनुशासन का डंडा फिर घुमाते हैं।

सुनहरा रंग है गणतंत्र का शहीदों के लहू से,

ऐसे शहीदों को हम सब सिर झुकाते हैं।।

आपको और आपके पूरे परिवार को

71वें गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

जमाने भर में मिलते है आशिक कई,
जमाने भर में मिलते है आशिक कई,
मगर वतन से खुबसूरत कोई सनम नही होता ||
भारत के गणतंत्र का, सारे जग में मान,
दशकों से खिल रही, उसकी अद्भुत शान,
सब धर्मो को देकर मान रचा गया इतिहास का,
इसलिए हर देशवासी को इसमें है विश्वास ||
गणतंत्र दिवस की ढ़ेरो शुभकामनाए. 2021

वतन की सर-ज़मीं से इश्क़ ओ उल्फ़त हम भी रखते हैं 
खटकती जो रहे दिल में वो हसरत हम भी रखते हैं

  मेरे जज़्बातों से इस कदर वाकिफ है मेरी कलम
मैं इश्क़ भी लिखना चाहूँ तो भी, इंकलाब लिख जाता है !

ऐ शांति अहिंसा की उड़ती हुई परी 
आ तू भी आ कि आ गई छब्बीस जनवरी

जब देश में थी दीवाली, वो खेल रहे थे होली
जब हम बैठे थे घरों में, वो झेल रहे थे गोली

जिसे सींचा है लहू से वो यूं खो नहीं सकती,

सियासत चाह कर भी विष के बीज हरगिज बो नहीं सकती।

वतन के नाम पर जीना वतन के नाम मर जाना,

शहादत से बड़ी कोई इबादत हो नहीं सकती।

गणतंत्र दिवस की ढेरों शुभकामनाएं

शहीदों का सपना जब सच हुआ

हिंदुस्तान तब स्वतंत्र हुआ

आओ सलाम करें उन वीरों को

जिनकी वजह से भारत गणतंत्र हुआ।

……..गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं………

जिसे सींचा है लहू से वो यूं खो नहीं सकती,
सियासत चाह कर भी विष के बीज हरगिज बो नहीं सकती।
वतन के नाम पर जीना वतन के नाम मर जाना,
शहादत से बड़ी कोई इबादत हो नहीं सकती।

बचपन भी एक दौर था
गणतंत्र दिवस में एक शोर था
आज नहीं जाने क्या हुआ देश को
इंसानों में मजहबी बैर हो गया

नहीं सिर्फ जश्न मनाना, नहीं सिर्फ झंडे लहराना,
ये काफी नहीं है वतन पर, यादों को नहीं भुलाना,
जो कुर्बान हुए उनके लफ़्ज़ों को आगे बढ़ाना,
खुदा के लिए नही ज़िन्दगी वतन के लिए लुटाना

मै भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ,
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नही है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ

गांधी स्वपन जब सत्य बना
देश तभी गणतंत्र बना
जरा याद करों वीरो की कुर्बानी
जिससे देश गणतंत्र बना
Happy republic day 2021


तुझको नमन ऐ मेरे वतन,
महिमा तेरी मैं क्या कहूं?
तेरे गुणों का गुणगान,
मैं हरदम यूं ही करती रहूं।।
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

26 January Republic Day Best What’s up Wishes in Hindi

भारत के गणतंत्र का सारे जग में है मान,
दशकों से खिल रही भारत की अद्भुत शान,
सब धर्मों को देकर मान, रच गया इतिहास,
इसलिए हर देशवासियों को इसमें है विशवास,
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

 आशा करते है आपको यह बेहतरीन 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर शायरी, मेसेज, शुभकामनाएं संदेश, और WhatsApp स्टेटस अच्छे लगे होंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *