किसान आंदोलन को बदनाम करने की थी साजिश पकड़ा गया शूटर

पिछले काफी दिनों से केंद्र सरकार द्वारा पारित 3 नए कृषि कानून बिलों के विरोध में संपूर्ण देश का किसान वर्ग आंदोलित है । पिछले 55 दिनों से भी ज्यादा दिनों से पंजाब, हरियाणा, और पश्चिमी उत्तर प्रदेश तथा राजस्थान के किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं। आंदोलन कर रहे किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार द्वारा पारित तीनों कृषि बिल रद्द हो तथा msp पर खरीद की गारंटी का कानून बनाया जाए हालांकि सरकार और किसानों के बीच कई बार किसान विज्ञान भवन में बैठक हो चुकी है लेकिन अभी भी कोई ठोस समाधान नहीं निकल पाया है किसान नेता तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े हुए हैं

26 जनवरी को होनी है किसान ट्रैक्टर परेड

किसानो और केंद्र सरकार के बीच कहीं स्तर की वार्ता हो चुकी है लेकिन अभी भी केंद्र सरकार की तरफ से दिए गए प्रस्तावो पर किसान नेताओं की तरफ से सहमति नहीं बनी है। किसान नेताओं ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड़ निकालने का मन बना दिया है इसी बीच कल सिंघु बॉर्डर पर एक संदिग्ध शूटर को पकड़ा है । किसानो द्वारा पकड़े गए संदिग्ध शूटर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिल्ली पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए है ।  पकड़े गए सूटर ने कबूला है कि वो 26 जनवरी को होने वाली किसान ट्रैक्टर परेड में मंच पर बेटे चार किसान नेताओं को गोली मारने वाला था

किसान आंदोलन को बदनाम करने की थी साजिश

आपको बता दें कि सिंह बॉर्डर पर जो शूटर पकड़ा गया है उसने कबूला है कि उसे आदेश मिला था कि किसान आंदोलन में शामिल होकर किसान परेड शामिल किसान नेताओं को गोली मारने है इन किसान नेताओं की तस्वीर भी उसे मिल चुकी थी सिंह बॉर्डर से पकड़ा गया शूटर हरियाणा के सोनीपत का रहने वाला है उसने अपना नाम योगेश बताया है। दिल्ली पुलिस के अनुसार  आरोपी 9वीं फेल है तब तक उसका कोई भी आपराधिक रिकार्ड पुलिस विभाग में दर्ज नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *